सलमान ने दी सलाह “जंग की बात करने वालों को बंदूक थमाकर लड़ने भेज दो, हाथ कांप जाएंगे’

आज कल सलमान जमकर अपनी फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ का प्रमोशन करने में लगे हुए हैं। जिसकी कहानी की पूरी पृष्ठभूमि 1962 में हुए भारत-चीन युद्ध के आस-पास गढ़ी गई है। जिसमें सलमान और सोहेल का बहुत ही इमोशनल रिश्ता दिखाया गया है और जब सोहेल इस युद्ध के लिए जाते हैं और वापस नहीं आते तब सलमान इमोशनल हो जाते हैं। एक तरह से सलमान ने रियल लाइफ में ही सही पर इस दुःख को करीब से देखा है। तभी तो एक इवेंट के दौरान सलमान ने एक रिपोर्टर से कहा, “जो लोग किन्हीं दो देशों के बीच युद्ध चाहते हैं, उन्हें बंदूक थमाकर सबसे पहले लड़ने के लिए कहना चाहिए। ऐसा होते ही यह ‘जंग’ एक दिन में खत्म हो जाएगी। उनके हाथ और पैर कांपने लगेंगे..जंग थम जाएगी और वे सीधे वार्ता की मेज पर बातचीत के लिए पहुंच जाएंगे”।

वहीँ इस बारे में फिल्म में सैनिक की भूमिका निभा रहे उनके भाई सोहेल खान ने कहा, “अगर आप किसी से भी पूछें की युद्ध सही है या गलत तो कोई भी इसे सही नहीं ठहराएगा। जो भी संघर्ष है, टेबल पर हल होना चाहिए। युद्ध नकारात्मक है। कोई भी इसका समर्थन नहीं करेगा। लेकिन यह हो रहा है और कोई नहीं जानता क्यों हो रहा है।”

सलमान और सोहेल दोनों ही अपनी जगह सही हैं कोई भी परिवार युद्ध नहीं चाहता सब खुश रहना चाहते हैं लेकिन सलमान वहीँ ये भी एक सच है की दुनिया में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस शांति को रहने नहीं देना चाहते क्योंकि ये उनका काम है। वो सिर्फ लोगों को उकसा कर दहशत का माहौल बनाना चाहते हैं ऐसे लोग खुद कभी बन्दूक लेकर नहीं आते न कभी आएँगे और रही बात मेज पर बात की तो इसकी कोशिश हम हमेशा से करते ही आए हैं। लेकिन हर बार मिले धोखे के बाद ही युद्ध होता है।