धार्मिक नायक हैं दिलजीत सिंह दोसांझ

एक तरफ जहां आज कोई नायक अपनी सफलता के लिये कुछ भी करने के लिये तैयार हो जाता है, वही पंजाबी फिल्मों के नायक और गायक दिलजीत सिंह दोसांझ अपने चढ़ते हुये करियर के लिये प्रतिबद्ध तो हैं लेकिन उसके लिये कोई समझौता करने के लिये जरा भी तैयार नहीं। उड़ता पंजाब के बाद उसे कितनी ही हिन्दी फिल्मों के ऑफर आये लेकिन उसके लिये उन्हें अपनी पग यानि पगड़ी उतारना मंजूर नहीं था, लिहाजा उसने सारी फिल्में नकार दी। अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘फिल्लौरी’ के लिये भी पहले उन्हें लेने का मन बना था लेकिन पगड़ी की बदौलत उनका विचार छोड़ दिया गया लेकिन जब घूम फिर कर एक बार फिर उसका ही नाम सामने आया तो फिल्म के राइटर्स ने कहा कि फिल्म में दिलजीत के पगड़ी पहने रहने पर उन्हें कोई एतराज नहीं, बस क्योंकि उनका रोल करीब डेढ़ सो साल पुराना हैं इसलिये उसे पगड़ी दूसरी तरह से पहननी है। इस पर अपनी सहमति जताते हुये दिलजीत ये फिल्म करने के लिये तैयार हुये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *