‘जब हैरी मेट सेजल’ के ‘इंटरकोर्स’ के बयान से पलटे निहलानी

0 62

सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ फिल्म सर्टिफिकेशन के चेयरपर्सन पहलाज निहलानी ने वादा किया था कि अगर इम्तियाज़ अली की फिल्म जब हैरी मेट सेजल में इंटरकोर्स शब्द इस्तेमाल का जायज़ ठहराने के लिए उन्हें 1 लाख वोट मिल गए तो वह उसे क्लियर कर देंगे। सूत्रों के मुताबिक एक चैनल ने इस मुद्दे पर पोल करवाया एयर 1 लाख 20 हज़ार वोट इकट्ठे कर लिए। लेकिन जब निहलानी से इस बाबत संपर्क किया गया, तो उन्होंने न सिर्फ कोई टिप्पणी कहने से इंकार कर दिया, बल्कि यह मानने से ही पीछे हट गए की उन्होंने ऐसा कोई वादा किया था। शाहरुख़ खान, अनुष्का शर्मा स्टारर जब हैरी मेट सेजल उस वक़्त कॉन्ट्रोवर्सी में फंस गयी जब निहलानी ने ‘A’ सर्टिफिकेट ना पाने वाली इस फिल्म में इंटरकोर्स शब्द को पास करने से इनकार कर दिया। पोल के इस मुद्दे पर जब निहलानी से बात की गयी तो उन्होंने कहा की इस शब्द के इस्तेमाल होने से फिल्म देखने आये पारिवारिक लोग असहज हो जाएँगे और बच्चे बाबत जिज्ञासु होकर सवाल पूछेंगे। भारतीय, खासकर युवा भारतीय इस तरह की बातचीत पर खुले विचार रखते है। चैनल इस बात पर भी रोशनी डाली की निहलानी की खुद की बनाई फिल्मों में अक्सर सेक्सुअल जोक और डायलॉग होते थे, पर उन्हें ‘U’ सर्टिफिकेट मिलता था कई सिलेबस और फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने इन दिनों दिख रही सेंसर बोर्ड की पिछड़ी मानसिकता पर आश्चर्य जताया है। 1 लाख से ज्यादा लोगों ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जताया है।

Comments
Loading...