Home » बॉकस ऑफिस » मूवी रिव्यू: आकर्षक है नई जोड़ी ‘मशीन’

मूवी रिव्यू: आकर्षक है नई जोड़ी ‘मशीन’

बॉकस ऑफिसबॉलीवुड अपडेटसरिव्यूजश्याम शर्मा

रेटिंग***

बॉलीवुड में थ्रिलर सस्पेंस के जादूगर अब्बास-मस्तान अपनी फिल्मों के जरिये अभी तक कई स्टार्स दे चुके है,इस बार उनकी थ्रिलर सस्पेंस फिल्म ‘मशीन’ से उनके बेटे मुस्तफा ने डेब्यू किया है । फिल्म देखते हुये  बाजीगर और खिलाड़ी जैसी फिल्मों की शिद्दत से याद आती है ।

मुस्तफा एक रिजर्व नेचर का लड़का है जो कॉलेज में बहुत कम बात करता है । उसकी मुलाकात कॉलेज में पढ़ने वाली अमीर लड़की कीआरा आडवानी से होती है । दोनो एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं । बाद में कीआरा के पिता रोनित रॉय दोनों की शादी कर देते हैं । इसके बाद कहानी में ट्वीस्ट एंड टर्न शुरू हो जाते हैं जो चौंकाने वाले सस्पेंस के साथ खत्म होते हैं ।Machine_movie-review

फिल्म की कहानी अब्बास मस्तान की कुछ पुरानी फिल्मों की याद दिलाती है । फिल्म से उनके बेटे मुस्तफा ने एक मिस्टीरियस रोल के तहत बॉलीवुड में कदम रखा है। इस बार विदेशी लोकेशनों के अलावा हिमाचल की खूबसूरत वादियां मन मौह लेती हैं क्योंकि कैमरामैन ने उन्हें बहुत अच्छे ढंग से कैमरे में कैद किया है। बेशक इस बार भी फिल्म में थ्रिल के साथ साथ ट्वीस्ट एंड टर्न है लेकिन एक हद तक वे  प्रभावहीन साबित होते हैं। फिल्म में उनके पसंदीदा  कलाकार दिलीप ताहिल और जॉनी लीवर हैं उनमें रोनित राय की नई एंट्री है। मुस्तफा और किआरा के अलावा दो अन्य लड़के हैं जो जरा भी प्रभावति नहीं कर पाते दूसरे वे  मुस्तफा और कीआरा के साथी के तौर पर जरा भी नहीं जमते। पटकथा औसत तथा सवांद कुछ जगह हास्यप्रद लगते हैं  जैसे मैं एक बार तुम्हारी लिपस्टिक  खराब कर सकता हूं लेकिन तुम्हारी आंख का काजल नहीं। म्यूजिक की बात की जाये तो  सिवाय  तू चीज बड़ी है मस्त मस्त गीत के अलावा बाकी गाने ओसत दर्जे के रहे।machine

नये अभिनेता मुस्तफा को देखकर लगता है  जैसे किसी साउथ की फिल्मों के हीरो को देख रहे हैं ।सीरयसली उसे साउथ में भी ट्राई करना चाहिये, क्योंकि उसकी प्रसनेल्टी वैसी है । पहली फिल्म के हिसाब से उसने अच्छा काम किया है लेकिन अभी उसे काफी कुछ सीखना है । कीआरा अपनी भूमिका में ठीक लगी है लेकिन वो अपने अभिनय से ज्यादा अपनी खूबसूरती से प्रभावित करती है । रोनित रॉय की भूमिका को और सशक्त बनाया जा सकता था । इसी तरह दिलीप ताहिल  छोटी सी भूमिका  में महज अपनी उपस्थिति दर्शा जाते हैं। जॉनी लीवर थोड़ी देर माहौल हल्का करने में कामयाब हैं। फिल्म  में और भी नये चेहरे हैं जो खास प्रभाव नहीं छौड़ पाते। बावजूद इसके फिल्म की नई जोड़ी दर्शक के लिये आकर्षण है।

Facebook Comments
Similar posts
Please Login/Register to Comment.