INTERVIEW: “बस में यही कहना चाहूंगी “आई एम हॉट” – प्रियंका चोपड़ा

लिपिका वर्मा

प्रियंका चोपड़ा भारत देश से इतना प्रेम करती है कि-उन्होंने न केवल अपने माता -पिता को अपनेआप को  प्राउड फील करवाया है अपितु इंडिया को भी इंटरनेशनल लेवल पर अपनी हॉलीवुड फिल्मों के किरदारों से गर्वान्वित किया है।, क्वांटिको में रोल मिलने के बाद तो जैसे प्रियंका के लिए एक   साफ सुथरा रास्ता जैसे खुल सा गया हो। अब ‘बे वाच’ में भी वह एक नेगेटिव किरदार निभा  रही है।

यहाँ की गर्मी भी उन्हें बहुत पसंद आती है -शायद इसीलिए प्रियंका  दुनिया की सबसे ‘हॉट’ लड़की कहलाई जाती है ??

जोर से हंस कर प्रियंका  बोली- आई एम हॉट!! देखिये दरअसल में जिस देश से में इंडिया आयी हूँ वहां पर बहुत ही सर्दी है इस समय। किन्तु इंडिया में आज इस हीट को भी मै  बहुत पसंद कर रही होऊं। आप लोग भी तो मेरा  इंतजार इस हीट में ही कर रहे है। !!! .. मुझे भारतवर्ष की हीट अत्यंत पसंद है। वीदेश की  सर्दी के मौसम से यहाँ गर्मी में आयी हूँ। हालांकि  यहाँ आते  ही मेरे अंदर एक स्फूर्ति सी आ जाती है। ..शायद यही  हीट है जो मुझे हॉट बनाती है। बस में यही  कहना स चाहूंगी  – ‘आयी एम हॉट’!!

आपको, ‘बेवाच’ हॉलीवुड फिल्म का किरदार हॉलीवुड एक्टर से छीन लिया अपने ऐसा सुनने में आया है ?

– ऐसा कहना ठिक  नहीं होगा-मैंकभी भी किसी का बुरा नहीं चाहूंगी। दरअसल, में यह सच है -यह  किरदार हॉलीवुड के जाने  माने अभिनेता करने वाले थे। लेकिन मैं खुश किस्मत हूँ  -यह किरदार  मेरी गोद  में आ गिरा। यह अलेक्स का किरदार क्वांटिको का किरदार भी कोई और फिरंग  एक्टर ही करने वाली थी। मुझे अलेक्स का किरदार मिला और सबसे अच्छी बात यह है कि- इस किरदार में मेरे देश के लिए कुछ हिंदी लाइन भी जोड़ी गयी।  भारतवर्ष  का सम्मान हुआ यह मेरे लिए खुशी  की बात है।

रंग भेदभाव एवं अन्य भेदभाव का शिकार  तो हुई होंगी आप?

देखिये, मुझे अपने रंग और अपने भारतीय  होने पर गर्व है। अब बस हम सब को अच्छे खासे रोल मिलने चाहिए, बहुत हुआ- हॉलीवुड फिल्मों में इंडियंस को कोई भी छोटे रोल नहीं करने चाहिए। जहाँ  तक रंग एवं अन्य भेदभाव की बात आती है, तो यही कहना  चाहूंगी में एक ओवर ऑल समस्त, बदलाव लाने की कोशिश कर रही हूँ।

हॉलीवुड और बॉलीवुड में सम्मान इज्जत को लेकर क्या कहना चाहेंगी आप?

देखिये, यह मेरी खुशकिसमिति है कि-बॉलीवूड एवं हॉलीवुड दोनों ही जगह मुझे बहुत अच्छी फिल्में और रोल मिले हैं। यह जरूर है कि  मैंने बॉलीवुड में लगभग 50 फिल्में कर ली है और अपना एक मुकाम बना लिया है। मुझे इस बात का भी एहसास है कि बॉलीवूड से ही मैं, अपने  तजुर्बे को स्ट्रांग बना पायी हूँ। इसी वजह से , मुझे हॉलीवुड में काम करने में बहुत आसानी भी हुई है। यहाँ जो कुछ भी सीखा है मैंने वह वहां के लोगों को समझा  देता है कि- हम भी किसी से कम नहीं है। बस जब लोग मुझे  कहते हैं, ‘आप बहुत परफोफेशनल है’ तब थोड़ा उत्तेजित हो  कर बोल देती हूँ , ‘‘मैं भी 50 फिल्में कर , हार्ड वर्क करके ही आप लोगों के बीच आयी हूँ। सो जो कुछ भी आज ें हूँ बॉलीवुड की वजह से ही हूँ। शिक्षा जो यहाँ से ली है।

हाल ही में आप शार्ट फिल्म फेस्टिवल की जूरी मेम्बर भी रह चुकी है, क्या कहना चाहेंगी आप ?

जी हाँ, मैं पहली बारी जूरी मेम्बर बनी  हूँ, बस  यही देख कर थोड़ा दुःख लगा है कि – हमारे यहाँ से केवल एक ही शार्ट फिल्म पेश की गयी। मैं चाहूँगी अगली बारी हमारी टीम में भी जो कई मेमेबर्स है वह फिल्में बना कर  पेश करें। इस फील्ड में हमारे, देश की उन्नति ही मेरा लक्ष्य है।  हमारे एशियाई इंडियंस ने भी हमारे देश को गौरवान्वित किया है -देव पटेल, रिज अहमद इत्यादि ने हॉलीवुड में हमारे देश के परचम को लहराया है। हालाँकि यह साउथ एशियाई इंडियंस है किन्तु है तो भारतीय ही। बस मुझे बातें करना पसंद नहीं है। मैं काम  करने में विशवस करती हूँ , और यही  चाहती  हूँ कि -हमारे नौजवान बच्चे भी हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाये।

हॉलीवुड फिल्में जो आप कर रही  है – वो रोल कुछ बोल्ड है  क्या?

क्यों आप हिंदी फिल्में नहीं देखती है क्या ?आप को यह बतला दूँ मैं कहानी  और रोल के अनुसार ही काम करती हूँ। कुछ भी सनसनीखेज बनाने हेतु अभिनय को तूल  नहीं देती हूँ। बॉलीवुड में जो कुछ भी अपना एक स्टैण्डर्ड बनाया है बस वही हॉलीवुड फिल्मों में भी कर रही हूँ। मैं ना कुछ  कम और न ही कुछ ज्यादा करने में विश्वास करती हूँ। मैंने हिंदी फिल्मों में ही बेहतरीन एक्टर्स के साथ काम किया है और यहाँ भी -फर्क सिर्फ इतना है कि मेरा बॉयफ्रैंड, ‘वाइट’ है।

अक्सर आपकी तुलना दीपिका पादुकोण से की जाती है, क्या कहना चाहेंगी आप?

अब तक के सफर में मेरी  कई ढेर सारी एक्टर्स से तुलना की गयी है। इससे मुझे कोई भी फर्क नहीं पड़ता है। बस मुझे हर बारी एक नये मुकाम को सेट करना होता है।  यही अपने मस्तिष्क में  लिए हुए मैं काम  करती हूँ और पिछली फिल्मों एवं किरदारों को वही छोड़ आगे बढ़ जाती हूँ। कैसे अपने काम में सुधार ला कर  एक नया माइलस्टोन मुकाम , सेट करूँ यहि सोच  लेकर आगे बढ़ जाती हूँ। सो यह सब करने के लिए मुझे काम करना है कही भी रुकना पसंद नहीं है मुझे।

आपके पेरेंट्स  की वह कौन-सी बहुमूल्य शिक्षा लिए आप आगे बढ़ती जा रहे है आज भी ?

मेरे माता-पिता ने हमे बचपन से यही  सिखाया है मेहनत से काम करों और आगे बढ़ो। फिर चाहे आप एक लड़की हो इस बात से भयभीत हो कर अपने विचारों को प्रकट करने में जरा भी मत हिचकिचाओ। जो कुछ भी आप का मत है उसे बेधड़क बोल दो। कोई भी विचार गलत या सही नहीं होता है -यह हर एक इंसान का भ्रामक पर्सेप्टिवे, होता है। यही शिक्षा में अपने आने वाली पीढ़ी – खासकर लड़कियों को देना चाहूंगी।

आपको वर्ल्ड हॉटेस्ट स्टार की श्रेणी में ला खड़ा किया है। …क्या इंडिया की, ‘हीट’ गर्मी, जो आपको पसंद है इसी वजह से आप हॉट है ?

हंस कर बोली, ‘काश यह सही होता ? आई एम हॉट !!’