‘चंद्रकांता’ के लॉन्च पर कलर्स के पीआरओ ने मीडिया को किया हताश

लिपिका वर्मा 

‘चंद्रकांता’  “टेलीविज़न शो के लॉन्च पर   मीडिया कर्मियों  को निमन्त्र 3:30 बजे का दिया गया था। और शो का लॉन्च लगभग तीन घंटे डिले हो गया था। मीडिया ने जब घमंडी पीआरओ मशीनरी से यह सवाल किया – कब लॉन्च शुरू होगा ? अब बहुत देर हो चुकी है ? पीआरओ  ने तुनक के कहा  ,”एकता  का इंतजार किया  जा रहा है। यदि  आप को लेट हो रहा है तो आप लोग जा सकते है। “इस वाक्य ने एक बहुत बड़ा यादगार “वाक्या ” को जन्म दे दिया। सारी की सारी वैबसाइट्स एवं चैनल मीडिया ने जब, “वॉक  आउट” किया तो पीआरओ के होश उड़ गए। सीईओ – वायकॉम ‘ 18 – राज नायक दौड़े दौड़े   अपने कमरे से बाहर आये  और हाथ जोड़कर  कर मीडिया कर्मियों  से माफ़ी माँगते हुए उन्हें आश्वासन दिया -प्लीज आप लोग वेट करें। हम केवल दस मिनट में कार्यक्रम  का आरम्भ करते है। “

खेर चलिए वही पुराने मुहावरे के सहारे -,”दी शो मस्ट गो ऑन ” का सहारा लेते हुए राज नायक जी स्टेज पर गए और समस्त मीडियकर्मियों से दोबारा माफ़ी मांगते हुए कहा -अब डिले हो गया है इसके लिए ,”मैं आपसे क्षमा चाहता हूं .”

कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए राज नायक ने कहा ,” दरअसल में ,” नागिन 2″ ऑफ एयर हो रहा है और जब तक नागिन 3″ नहीं बनता हमने सोचा यह स्लॉट  एकता कपूर के साथ  हाथ मिलाकर   टेलीविजन शो, ” चन्द्रकान्ता ” ही कर ले। हालांकि “चन्द्रकान्ता” एक जाना माना  नाम है और कई सारे चंद्रकांता बन चुके है। कई तो हाल फिलहाल चैनल्स पर भी चल रहे है। किन्तु हम आपको आश्वासन देते है हमारा टेलीविजन  शो, “चन्द्रकान्ता” इन सब से कुछ अलग ही  होगा और हमारे दर्शकों को यह “चन्द्रकान्ता” आवश्यक पसंद आएगा.”

आगे जो हवा यह पढ़ कर हमारे पाठको को जरूर एक टेलीविजन  शो की तरह एहसास होगा – जी हाँ ! जैसे ही “चन्द्रकान्ता” शो का लॉन्च खत्म हुआ, मीडियाकर्मी शो के अभिनेताओं से वार्तालाप करने में व्यस्त हो गए। बाहर से एक फुसफुसाहट सुनाई दी, ” एकता की  कार ने अब जाकर एंट्री की है कार्यक्रम स्थल पर। ” इस समय घड़ी में लगभग रात के  8:30 बज चुके थे। खेर एकता वैनिटी वैन के अंदर घुस गई और वहां कुछ देर राज नायक से बातचीत करने के बाद बाहर निकली। यहाँ पर सभी अभिनेता उसका इंतजार कर रहे थे। वैनिटी के बाहर खड़े होकर उन सबसे भी बातचीत कर, एकता कपूर अपनी कार में बैठी और उनकी गाड़ी  घूम कर बाहर के रास्ते  हो ली। मीडिया से उनकी कोई बातचीत नहीं हुई और न ही मीडिया ने उनसे बात करने की इच्छा जाहिर की। पी आरओ ने यह आश्वासन भी दिया था कि  एकता कपूर ने इस इवेंट पर हम सब ही से बातचीत भी करेंगी। अक्सर एकता प्रेस मीट पर केवल स्टेज पर जितना बोलती हैं बस उसी से मीडिया को काम चलना पड़ता है। न जाने क्यों मीडिया से इतनी बेरुखी क्यों है एकता को ??

 अब एकता की मनोस्थिति से हम सभी वाकिफ है, वो जब भी कोई काम शुरू करती है तो अपने नुमेरोलॉजिस्ट एवं ऐस्ट्रॉलजर से पूछ कर ही समय निर्धारित करती है – सो क्या एकता अपने ऐस्ट्रॉलजर से यह जानने  के लिए उत्सुक होंगी -“चंद्रकांता एक बहुत ही नेगेटिव नोट पर शुरू हुआ। क्या यह टीवी शो  एकता कपूर को टेलीविजन क्वीन ”  बनाये  रखने  में सफल होगा या फिर असफल??

बहरहाल मोरोल ऑफ़ द  स्टोरी इस – मीडियकर्मियों का  ही नहीं घर आये हुए मेहमानो की इज्जत करना सभी को आना चाहिए। कलर्स पीआरओ को ,” रिलेशनशिप” का मायने समझना अनिवर्य है !! यह पहली बारी नहीं है जब कलर्स चैनल के  पीआरओ  ने मीडिया कर्मियों  से बदतमीजी की है  लास्ट सीजन सलमान के “बिग बॉस” लॉन्च  में भी इनका कुछ ऐसा ही रवैया रहा।