गिरीश कर्नाड

हैप्पी बर्थडे गिरीश कर्नाड

भारत के मशहूर कहानीकार, फिल्म निर्देशक और अभिनेता हैं,लेखक, पत्रकार, अभिनेता और निर्देशक, यानि वन मैन शो गिरीश कर्नाड का जन्म 19 मई 1938 को महाराष्ट्र के माथेरान में हुआ था। इनके पिता का नाम राओ साहेब डॉक्टर कर्नाड और माता का नाम कृष्णा बाई मानकीकारा था  गिरीश कर्नाड ने धारवाड़ स्थित कर्नाटक विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की और उसके बाद ऑक्सफोर्ड के लिंकॉन तथा मॅगडेलन महाविद्यालयों से दर्शनशास्त्र, राजनीतिशास्त्र तथा अर्थशास्त्र में पोस्टग्रेजुएशन की । उन्होंने डाक्टर सरस्वती गणपति से शादी की व इनके २ बच्चे है एक लड़का रघु जो की एक मशहूर पत्रकार है और बेटी शाल्मली राधा कर्नाड जो की एक बहुत बड़ी डॉक्टर हैं।

बचपन से ही उनका झुकाव साहित की तरफ था. वह अपनी स्कूली समय से ही कर्नाड ने थियेटर से जुड़ चुके थे। अपनी ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद वे इंग्लैण्ड चले गए और वहीं पर आगे की शिक्षा पूर्ण की। भारत वापस लौटने पर गिरीश कर्नाड ने मद्रास में सात साल तक ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में कार्य किया, लेकिन कुछ ही समय बाद यह कार्य छोड़ दिया। बाद में शिकागो गए और एक प्रोफेसर के रूप में काम किया।इसके बाद पुन: भारत लौटने पर इन्होंने अपने साहित्य के ज्ञान से क्षेत्रीय भाषाओं में कई फिल्मों का निर्माण किया और पटकथा कार्य भी करने लगे।

लगभग चार दशकों से गिरीश कर्नाड नाटक के क्षेत्र में रचनात्मक रूप से काम कर रहे हैं। उनके नाटकों को इब्राहिम अलकाजी, ब.ब. कारंत, आलोक पद्मसी, अरविंद गौड़, सत्यदेव दुबे, विजय मेहता, श्यामानंद जालान और अमल अल्लाना जैसे थिएटर और रंगमंच के लब्धप्रति‍ष्ठ निर्देशकों ने निर्देशित किया है। गिरीश कर्नाड केवल एक सफल पटकथा लेखक ही नहीं, बल्कि एक बेहतरीन फिल्म निर्देशक भी हैं। उन्होंने वर्ष 1970 में कन्नड़ फिल्म ‘संस्कार’ से अपने सिने कैरियर को प्रारम्भ किया था। इस फिल्म की पटकथा उन्होंने स्वयं ही लिखी थी। इस फिल्म को कई पुरस्कार प्राप्त हुए थे। इसके पश्चात उन्होंने कई फिल्में की।

उन्होंने कई हिन्दी फिल्मों में भी काम किया था। इन फिल्मों में ‘निशांत’, ‘मंथन’ और ‘पुकार’ आदि उनकी कुछ प्रमुख फिल्में हैं। गिरीश कर्नाड ने छोटे परदे पर भी अनेक महत्त्वपूर्ण कार्यक्रम और सीरियल पेश किए हैं। उनके कुछ नाटक, जिनमें ‘तुगलक’ आदि आते हैं, सामान्य नाटकों से कई मामलों में पूरी तरह से भिन्न हैं। गिरीश कर्नाड ‘संगीत नाटक अकादमी’ के अध्यक्ष पद को भी सुशोभित कर चुके हैं।  वह कई फिल्मों में अभिनय भी करते हुये नजर आये। हाल ही में आई फिल्म ‘शिवाय’ में भी वह नजर आये थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *